जब भी हम लोन लेने का सोचते हैं तो हमारे दिमाग में ये बात भी आती है कि अगर हम किसी भी वजह से लोन नहीं चुका पाए तो क्या होगा? कई बार ऐसी स्थितियां आ जाती हैं जिनमें पड़कर हम लोन की रकम चुका पाने में असमर्थ होते हैं। जैसे लोन बॉरोअर की मृत्यु होना या दिवालिया होना।

लोन लेना मज़बूरी ही नहीं ज़रूरत भी होती है। जैसे कुछ लोग होम लोन लेकर घर बनाते हैं और वहीं कुछ लोग ऑटो लोन लेकर गाड़ी खरीदते हैं, इसके आलावा पढाई के लिए एजुकेशन लोन या फिर कई लोग अपनी निजी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए पर्सनल लोन लेते हैं। सभी की जरूरतें अलग-अलग हैं जिसके लिए सब लोन लेते हैं। फिर उस लोन पर ब्याज भरना होता है। जो लोग ब्याज और मूलधन का पैसा नहीं चुकाते, वे डिफॉल्टर घोषित हो जाते हैं।

लोन Default क्यों होता है?

लोन लेने वाले सभी लोग लोन का पैसा चुका नहीं पाते इसके कई वजह हो सकते हैं। कुछ लोग मज़बूरी में ऐसा करते हैं और कुछ जान-बूझ कर लोन नहीं चुकाते हैं और defaulter हो जाते हैं। जो लोग जानबूझ कर पैसे नहीं चुकाते वो लोग सोचते हैं कि कार्रवाई होगी भी तो वे उसे देख लेंगे, ऐसे लोग अमूमन बड़े व्यापारी और उद्योगपति होते हैं। आजतक देश में ऐसे कई बड़े लोग हुए हैं जिन्होंने बैंकों से बड़ा लोन लिया है और उसे लेकर विदेश भाग गए हैं। वहीं दूसरी तरफ ज्यादातर लोग बैंकों या गैर-वित्तीय संस्थाओं का पैसे चुका देते हैं क्योंकि उन्हें कार्रवाई का डर होता है।

लोन डिफ़ॉल्ट होने पर क्या नुक्सान होता है?

अगर किसी ने किसी भी तरह का लोन लिया है, और किसी कारणवश बॉरोअर की मौत हो जाती है तो कर्जदार की मौत के बाद लोन चुकाने की जिम्मेदारी को-एप्लीकेंट या फिर गारंटर की होती है। अगर ये दोनों भी नहीं हैं तो बैंक उस व्यक्ति से लोन के रकम की मांग करेगा जो कर्जदार की संपत्ति का कानूनी उत्तराधिकारी होगा। इन सब रास्तों को अपनाने के बाद भी अगर बैंक को यह लगता है कि उसके कर्ज की भरपाई संभव नहीं है तो वह गिरवी रखे प्रॉपर्टी की नीलामी करेगा और अपने बकाए का भुगतान करेगा।

अब आज के समय में हर तरह के लोन का इंश्योरेंस भी होता है। बैंक इस इश्योरेंस के लिए प्रीमियम का भुगतान कस्टमर से ही करवाती है। ऐसे में अगर किसी बॉरोअर की मौत हो जाती है या वह दिवालिया होकर पैसे चुकाने में असमर्थ होता है तो बैंक इंश्योरेंस कंपनी से पैसा लेता है।

अगर लोन बॉरोअर ज़िंदा है और पैसों के आभाव में लोन की रकम नहीं चुका पा रहा है तो इसका सीधा असर क्रेडिट स्कोर पर पड़ता है। लोन लेने और उसे नहीं चुकाने पर आपके क्रेडिट से जुड़ी सभी जानकारी सिबिल को भेज दी जाती है। इसके साथ ही ये सूचनाएं बाकी सभी क्रेडिट रेटिंग एजेंसी को दी जाती हैं जिस वजह से आपको आगे लोन लेने में दिक्कत आ सकती है।

लोन की रकम ना चुका पाने पर कितना समय मिलता है?

जब भी आप लोन लेते हैं तो एक तारीख बंध जाती है कि हर महीने आप कितनी तारीख को EMI भरेंगे। अगर किसी महीने आप EMI भरने में असमर्थ होते हैं तो पहले तो आपसे Late फीस ली जाती है और अगर आप लोन चुकाने में पूरी तरह असमर्थ हैं भी तो ऐसा नहीं है कि हाथों हाथ कार्यवाई होगी। बैंकों की तरफ से कुछ मोहलत दी जाती है ताकि लोन की रकम चुकाई जा सके। सबसे पहले तो उधार लेने वाले व्यक्ति को एक नोटिस भेजा जाता है जिसमें लोन और ब्याज की राशि का जिक्र होता है। अगर बैंक को लगता है कि उधारकर्ता जानबूझ कर कर्ज नहीं चुका रहा और पैसे रहते हुए समय पर ईएमआई नहीं चुकाई गई है तो बैंक कानूनी कार्रवाई शुरू कर सकता है। कार्यवाई कितनी जल्दी शुरू होगी ये इस बात पर निर्भर करता है कि बैंक और कॉस्टमेर का रिश्ता कैसा है और EMI पेमेंट को लेकर विवाद कितना बढ़ा है।

पर्सनल लोन ऐप की मदद से लोन कैसे मिलेगा?

आप PaySense से पर्सनल लोन के लिए कभी भी अपनी सुविधानुसार अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिया आपको बस पर्सनल लोन ऐप पर जाना है और एलिजिब्लिटी क्राइटेरिया चेक करके अप्लाई करना है। जैसे ही ऐप आपके डॉक्युमेंट्स को वेरीफाई कर देगा; उसके बाद कुछ ही दिन में आपके अकाउंट में आपके लोन की रकम आ जाएगी और उसी अकाउंट से आपका Monthly EMI कट जाएगा।

इस प्रकार आपको लोन लेने से पहले अपने सभी खर्चों को देख लेना है ताकि आपका EMI समय पर जा सके और आप लोन डिफॉल्टर घोषित ना हो जाओ। लोन डिफाल्ट होने से आपके क्रेडिट स्कोर पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है जिससे भविष्य में आपको लोन लेने में दिक्क्तों का सामना करना पड़ सकता है।

यह ऐप आपको अच्छे अनुभव प्रदान करेगा। Here is the app link – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.gopaysense.android.boost

Paysense website link- https://www.gopaysense.com/

Anil Sumra

Anil Sumra is a Digital Marketing Expert with more than 10 years of experience. He loves to write on various financial topics online to create financial awareness. He holds a bachelor’s degree in Finance & Management.

More Posts

Follow Me:
TwitterFacebookLinkedInYouTube