जबसे Covid-19 ने पूरे भारत को प्रभावित किया है तबसे लोगों ने इमरजेंसी के लिए रुपए बचाने की कोशिश की है क्योंकि अब कब क्या हो जाए किसी को कुछ नहीं पता. ऐसे में मेडिकल इमरजेंसी के रूप में लोन भी काफी लोग लेने लगे हैं. आज स्थिति ऐसी पैदा हो गई है कि कभी भी कुछ भी हो सकता है और हर समय हाथ में इतने रुपए नहीं रहते कि उससे अपना या अपनों का इलाज करवाया जा सके. ऐसे में ज्यादा लोग लोन लेने लगे हैं. ऐसी स्थिति में लिया गया लोन मेडिकल इमरजेंसी लोन कहलायेगा.

कौन- कौन से लोन मेडिकल इमरजेंसी के तौर पर लिए जा रहे हैं?

मेडिकल इमरजेंसी के रूप में दो तरह के लोन लिए जाते हैं. एक तो है मेडिकल लोन जोकि कई सारे बैंक और कंपनियां देती है जिसमें कई बार थोड़ा समय लग जाता है और कई तरह के मेडिकल कागज़ दिखाने होते हैं. दूसरा होता है पर्सनल लोन जिसे मेडिकल इमरजेंसी पड़ने पर लोग आसानी से बहुत ही जल्दी ले सकते है और अपनी सुविधानुसार चुका सकते हैं. पर्सनल लोन आसान लोन में से एक माना जाता है क्योंकि इसमें ज्यादा कागज़ों की ज़रूरत नहीं होती.

पर्सनल लोन कहाँ से लें

वैसे तो आज मार्किट में बहुत से बैंक और प्राइवेट एजेंसीज हैं जो पर्सनल लोन देती है लेकिन अब आपको उनके पास भी जाने की ज़रूरत नहीं है, आप घर बैठे अपने स्मार्टफोन से पर्सनल लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं. ये सब और भी आसान हो जाता है अगर आप Paysense के पर्सनल लोन ऐप से लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो. बस आपको अपनी एलिजबलिटी चेक करनी है और KYC करवाना है. दो दिन में आपके डाक्यूमेंट्स अप्रूव हो जाते हैं और उसके बाद 2 से 4 दिन में आपके पसंद के बैंक खाते में आपके लोन की रकम आ जाती है.

PaySense पर लोन लेने के लिए क्या है पात्रता.

पर्सनल लोन जिसे आसान लोन भी कहा जाता है, इसे लेने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है. अगर आप नौकरी करते हैं और आपकी न्यूनतम आय 18,000 रूपये है या फिर अगर आप कोई बिजनेस करते हैं, और आपकी न्यूनतम आय 15,000 रूपये हैं तो फिर आप PaySense से लोन प्राप्त करने के लिए योग्य हैं. Paysense आपकी सैलरी को ध्यान में रखते हुए 5000 रूपये से लेकर 5,00,000 तक का लोन आपको प्रदान कर सकता है. इसके अलावा इस ऐप से लोन प्राप्त करने के लिए लाभार्थी का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है, लाभार्थी का कोई इनकम सोर्स होना चाहिए, लाभार्थी की उम्र 21 वर्ष से लेकर 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए और लाभार्थी की महीने की इनकम कम से कम 18000 रूपये होनी चाहिए. अगर ये सब योग्यताएं हैं तो आपका लोन अप्रूव हो जायेगा.

कौन-कौन से दस्तावेजों की ज़रूरत होगी?

PaySense से लोन लेने के लिए सबसे पहले आपको कुछ दस्तावेजों के साथ ऑनलाइन आवेदन करना पड़ता है. PaySense आपके इन दस्तावेजों की जाँच के बाद ही आपको लोन के लिए योग्य या अयोग्य मानता है. PaySense लोन के लिए आवेदन करने के लिए इन दस्तावेजों की माँग करता है-

  1. पहचान पत्र (आईडी प्रूफ़)
  2. एड्रेस प्रूफ
  3. इनकम प्रूफ
  4. फोटोग्राफ

मेडिकल इमरजेंसी के लिए लोन लेने पर कितना ब्याज देना होगा?

आप किसी भी कारण से पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करें आपसे एक ही तरह से ब्याज लिया जाएगा. ब्याज की रकम कुछ ख़ास बातों पर निर्भर करती है, जैसे-

  1. आपकी आय कितनी है
  2. आप कितने तक का लोन ले रहे हैं
  3. आप कितने समय तक ये लोन चुकाना चाहते हैं
  4. अगर आपने पहले कभी कहीं से भी लोन लिया है तो उसका स्कोर कैसा रहा है

ये सभी बातें देखने के बाद ही आपके ब्याज की दर तय होगी जोकि अगर आप Paysense के पर्सनल लोन ऐप से लेते हैं तो आपको बहुत ही बढ़िया सौदा मिल जायेगा और उसे चुकाने के लिए आप अपनी पसंद से खुद EMI प्लान भी बना सकते हैं. ताकि हर मैंने एक फिक्स राशि आपके खाते से कटते रहे.

मेडिकल इमरजेंसी में मेडिकल लोन के तौर पर पर्सनल लोन क्यों है एक बेहतर विकल्प?

पर्सनल लोन कई मायनों में बाकी किसी भी लोन से अलग हैं, जिस कारण ये बेहतर है और ज़रूरत के समय मददग़ार साबित होता है. पर्सनल लोन के लिए न ही किसी दूसरे लोन के बराबर डाक्यूमेंट्स चाहिए. इसके साथ ही कम ब्याज दर, जल्द अप्रूवल और छोटी EMI की वजह से पर्सनल लोन सबसे बेहतर हैं. पर्सनल लोन ज़रूरत के समय सबसे ज़्यादा कारगर साबित हुए हैं, इसका आप कहीं भी इस्तेमाल कर सकते हैं तो मेडिकल इमरजेंसी के वक़्त आप इसे आराम से इस्तेमाल कर सकते हैं इसके साथ ही इसके लिए किसी भी गारंटी या गेरेंटर की ज़रूरत नहीं होती है. अगर आप Paysense के पर्सनल लोन ऐप से लोन लेते हैं तो आपको पेपरलेस डॉक्यूमेंटेशन की सुविधा भी मिल जाती है जो जल्दी ही अप्रूव भी हो जाता है और इसकी ब्याज दर भी आप अपने EMI के आधार पर कम करवा सकते हैं.

इस प्रकार, इन्हीं सारी विशेषताओं के कारण इस Covid महामारी में मेडिकल इमरजेंसी के रूप में लोन लेने की दरों में वृद्धि हुई है.